badge

Blog Menu

Drop Down MenusCSS Drop Down MenuPure CSS Dropdown Menu

Digital Locker

Digital Locker

हसनअली NRI (www.hasanali.in) द्वारा जनहित में जारी 

Digital Locker डिजिटल इंडिया प्रोग्राम का महत्वपूर्ण हिस्सा है। इस वेब सेवा के जरिये आप जन्म प्रमाण पत्र, पासपोर्ट, शैक्षणिक प्रमाण पत्र जैसे अहम दस्तावेजों को ऑनलाइन स्टोर कर सकते हैं।

अब आपको अपने जरूरी दस्तावेज साथ लेकर घूमने की जरूरत नहीं है। इसके लिए सरकार ने डिजिटल लॉकर लांच किया है, जहां आप अपना जन्म प्रमाण पत्र, पासपोर्ट एवं शैक्षणिक प्रमाणपत्र जैसे अहम दस्तावेजों को ऑन लाइन स्टोर कर सकते हैं।
यह सुविधा पाने के लिए बस आपके पास आधार कार्ड होना चाहिए।

आधार का नंबर फीड कर आप डिजीटल लॉकर अकाउंट खोल सकते हैं।

खास बात इस सर्विस की सबसे खास बात यह है कि आप कहीं भी अपने दस्तावेज में आप डिजिटल लिंक पेस्ट कर दीजिये,अब आपको बार-बार कागजों का प्रयोग नहीं करना होगा।

डिपार्टमेंट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (डीईआईटीवाई) ने हाल ही में डिजिटल लॉकर का बीटा वर्जन लॉन्च किया है।

कैसे बनाये लॉकर
हसनअली NRI (www.hasanali.in) द्वारा जनहित में जारी 

आप भी अगर लॉकर खोलना चाहते हैं तो यह बहुत आसान है, बस आपको http://digitallocker.gov.in/ लागइन करना होगा, उसके बाद आपको आईडी बनानी होगी।

उसके बाद आपको आधार कार्ड नंबर लॉग इन कर दीजिये।

उसके बाद आपसे जुड़े कुछ सवाल आपसे पूछे जायेंगे जिसके बाद आपका अकाउंट बन जायेगा और उसके बाद आप उसमें सारे निजी दस्तावेज डाउनलोड कर दीजिये, जो हमेशा के लिए उसमें लोड हो जायेगा। 

आपका लाग इन आईडी और पासवर्ड आपका अपना होगा जिसे आप कहीं भी खोल सकते हैं।

सबसे बड़ा फायदा इस लॉकर के जरिये धोखाधड़ी नहीं हो सकती है और ना ही नकली दस्तावेजों का चक्कर होता है, यह पूरी तरह से नीट एंड क्लीन प्रोसेस है।

Let's Start to understand better

हसनअली NRI (www.hasanali.in) द्वारा जनहित में जारी 

यदि आपके पास आधार नंबर है तो आप केंद्र सरकार की ओर से उपलब्ध कराए डिजिटल लॉकर में अपना खाता खोलकर इसका इस्तेमाल शुरू कर सकते हैं। इलेक्ट्रोनिक्स एंड इनफोर्मेशन टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट डिजीटल लॉकर के बीटा वर्जन की शुरुआत कर दी है। इससे आपके जरुरी दस्तावेज की मूल कॉपी आपके घर के लॉकर में सुरक्षित होंगी और इसकी सॉफ्ट कॉपी आपके डिजिटल लॉकर के अकाउंट में।
ऐसे स्टूडेंट्स जो हर रोज किसी न किसी कॉम्पटेटिव एग्जाम के लिए ऑनलाइन एप्लाई करते है और जिन्हें हमेशा अपने पर्सनल डॉक्यूमेंट्स साथ लेकर घूमना पड़ता है, उनके लिए यह डिजिटल लॉकर काफी मददगार है। बार बार मार्कशीट और जरुरी दस्तावेज को साथ लेकर बाहर जाने, इनके खोने, बार बार फोटो कॉपी और स्कैन कराने जैसे झंझट से यह लॉकर आपको मुक्ति दिला सकता है।
डिजिटल लॉकर पर एक बार अपने दस्तावेजों को अटैच करने के बाद आप कहीं से भी किसी भी वक्त अपने डॉक्यूमेंट्स को एक्सेस कर सकते हैं, और ऑनलाइन आवेदन के दौरान उन्हें अटैच कर सकते हैं।
इन स्टेप्स को करें फॉलो
हसनअली NRI (www.hasanali.in) द्वारा जनहित में जारी 

लॉगिन आधार नंबर- अपने अकाउंट में लॉगिन करने के लिए आपको आधारा नंबर टाइप करना होगा।
अपलोड डॉक्यूमेंट्स- अब आपको अपने जरुरी दस्तावेज एक के बाद एक स्कैन करके अपलोड करना होगा।
व्यू डॉक्यूमेंट्स इशूड बाय डिपार्टमेंट- इस ऑप्शन के जरिए आप अपने अपलोड किए गए डॉक्यूमेंट्स को देख सकते हैं।
डिजिटल साइन- इस ऑप्शन के जरिए आप डिजिटल साइन करके इसे भी लॉकर में सेव कर सकते हैं।
शेयरिंग- शेयरिंग ऑप्शन के जरिए आप जिससे साथ ही इन डॉक्यूमेंट्स को शेयर करना चाहते हैं या फिर अपने इन दस्तावेजों को किसी कंपनी या ऑफिस में जमा करना चाहते हैं, तो कर सकते हैं।
गूगल और सोशल अकाउंड- डिजिटल लॉकर में लॉगिन के लिए आप अपना गूगल या फेसबुक अकाउंट भी यूज कर सकते हैं।

CBSE EXAM RESULT

हसनअली NRI (www.hasanali.in) द्वारा जनहित में जारी 

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) जल्द ही छात्रों को मूल प्रति (हार्ड कॉपी) के साथ डिजिटल प्रारूप में भी मार्कशीट और प्रमाणपत्र मुहैया कराएगा। इसे छात्र अपने डिजिटल लॉकर्स में संग्रहित कर सकेंगे। सूचना प्रौद्योगिकी (आइटी) मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी है।
आईटी सचिव आरएस शर्मा ने बताया कि डिजिटल सर्टिफिकेट जारी करने को लेकर हम सीबीएसई के साथ काम कर रहे हैं। इसके तहत छात्र अपने सीबीएसई के प्रमाणपत्र डिजिटल लॉकर में सुरक्षित रखने में सक्षम होंगे। उम्मीद है कि कुछ महीनों के भीतर सीबीएसई इन प्रमाणपत्रों को जारी कर देगा।
गौरतलब है कि सरकार ने 10 फरवरी को डिजिटल लॉकर्स की शुरुआत की थी और तीन महीने के भीतर एक लाख से ज्यादा लोगों ने इसका इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। मध्य प्रदेश (24 हजार से ज्यादा), उत्तर प्रदेश (17 हजार से ज्यादा) और गुजरात (13 हजार से ज्यादा) शीर्ष तीन राज्य हैं, जहां के सर्वाधिक लोगों ने इस सुविधा के लिए पंजीकरण कराया है।

Useful For Students
हसनअली NRI (www.hasanali.in) द्वारा जनहित में जारी 

स्टूडेंट्स को अब कॉलेज में एडमिशन के लिए होने वाली काउंसलिंग के दौरान दस्तावेज साथ ले जाने की जरूरत नहीं होगी। वे मात्र अपना आधार नंबर बताएंगे और उनके सारे दस्तावेज खुद-ब-खुद वेरिफाय हो जाएंगे। दरअसल यह सब संभव होगा डिजिटल लॉकर के जरिए।
इससे काउंसलिंग के दौरान होने वाली दस्तावेजों की हेराफेरी और दस्तावेज खो जाने की समस्या से बचा जा सकेगा। वर्ष 2015-16 के शैक्षणिक सत्र से कॉलेजों में एडमिशन के लिए यह योजना लागू की जा रही है।
डीटीई समेत प्रदेश और देशभर के कॉलेजों में एडमिशन के लिए काउंसलिंग के दौरान स्टूडेंट्स को डॉक्यूमेंट संबंधी कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। डॉक्यूमेंट भूल आने, खो जाने या इसी तरह की समस्याओं के कारण उन्हें काउंसलिंग से बाहर भी होना पड़ता है।
डिजिटल लॉकर को लिंक कर दिए जाने से न सिर्फ स्टूडेंट्स बल्कि काउंसलिंग अधिकारियों को भी आसानी होगी। प्रक्रिया भी जल्दी पूरी हो जाएगी। इसके लिए स्टूडेंट्स को अपने सारे शैक्षणिक सर्टिफिकेट, मूल निवासी प्रमाण पत्र, जन्म प्रमाण पत्र या इसी तरह के अन्य दस्तावेज डिजिटल फॉर्मेट में कन्वर्ट कराना होंगे।

स्कूल कॉलेज के सर्टिफिकेट भी ऑनलाइन
डिजिटल लॉकर एक तरह से ऑनलाइन डिपॉजिटरी है। यह लॉकर संबंधित स्टूडेंट या अन्य व्यक्ति के आधार कार्ड से लिंक रहेगा। इसमें सभी प्रकार के दस्तावेज आसानी से संभाल कर रखे जा सकते हैं। आधार कार्ड धारक कोई भी नागरिक अपना डिजिटल लॉकर खोल सकता है। यह सुविधा पूर्णरूप से निःशुल्क है।

आसान हो जाएगा वेरिफिकेशन
आने वाले समय में डीटीई के साथ सभी कोर्सेस की काउंसलिंग में डिजी लॉकर का उपयोग किया जाएगा। यह स्टूडेंट्स और अधिकारी दोनों के लिए फायदेमंद होगा। अभी काउंसलिंग में फोटोकॉपी के आधार पर डॉक्यूमेंट वेरिफाई किए जाते हैं। डिजी लॉकर को सभी तरह के एजुकेशन पोर्टल और काउंसलिंग सिस्टम के साथ जोड़ा जाएगा। काउंसलिंग अधिकारी स्टूडेंट्स से आधार नंबर और डिजिटल लॉकर यूजरनेम पासवर्ड लेकर इसे ऑनलाइन ही वेरिफाई कर सकेंगे। इसमें स्टूडेंट्स और काउंसलिंग अधिकारियों के डिजिटल सिग्नेचर का ऑप्शन भी होगा।
-हसनअली NRI (www.hasanali.in) द्वारा जनहित में जारी 


For more information Please contact us;

Needy of Your Prayers,
Mr. HasanAli NRI,
Founder #EllyRaza Online Shia Resource Centre,
Founder #EllyRaza Hotel Consultancy,
Founder #EllyRaza Marriage Service,
Founder #EllyRaza School Consultancy,

Friendship Ambassador #UNICEF,
Chief Regional Officer #International Youth Council,
Visiting Faculty #VOS of NIOS,
Educational Adviser #Taha Foundation -IRAN,
Counsellor #Cultural Activities Cell, AIU -Delhi,
Educational Adviser #Teachers of India
Member #NGO Portal, Niti Panch -Govt of India,

Phone : +91-8347-614-814
Website : www.hasanali.in
Facebook : fb.com/HasanAli.NRI



No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.